Home News निर्भया हत्या (रेप विक्टिम, दिल्ली) – Nirbhaya wiki, Murder

निर्भया हत्या (रेप विक्टिम, दिल्ली) – Nirbhaya wiki, Murder

4
19426
nirbhaya-biography-in-hindi
nirbhaya-biography-in-hindi

आज से कुछ साल पह्ले देश की राजधानी दिल्ली में एक रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना हुई थी। दिल्ली कि ही रह्ने वाली लड़की Nirbhaya के साथ, उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया और उसे प्रताड़ित किया गया। इस घटना ने व्यापक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कवरेज उत्पन्न किया और भारत और विदेश दोनों में व्यापक रूप से निंदा की गई। इसके बाद, नई दिल्ली में महिलाओं के लिए पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने में विफल रहने के लिए राज्य और केंद्र सरकारों के खिलाफ सार्वजनिक विरोध प्रदर्शन हुए, जहां हजारों प्रदर्शनकारी सुरक्षा बलों के साथ भिड़ गए थे।

जन्म और परिवार (Nirbhaya Birth and Family)

निर्भया का जन्म साल 1989 को बलिया, उत्तर प्रदेश, भारत में हुआ था। निर्भय का असली नाम ज्योति सिंह था। वह एक फिजियोथेरेपीस्ट थी। उनके पिता का नाम बद्रीनाथ सिंह है उसके पिता के दिल्ली में पालम हवाई अड्डे पर नौकरी करते हैं, और उनकी माता का नाम आशा देवी हैं। उनके दो भाई हैं।

nirbhaya-parents-family
निर्भय के माता पिता

निर्भया का करियर – Nirbhaya Career

अपनी स्कूली पढ़ाई दिल्ली के एक पब्लिक स्कूल से की और 12 वीं कक्षा पास करने के बाद पीएमटी (प्री मेडिकल टेस्ट) की तैयारी शुरू कर दी। पीएमटी में असफल होने के बाद, निर्भया ने फिजियोथेरेपी में अपनी आगे की पढ़ाई करने का फैसला किया और देहरादून के एक फिजियोथेरेपी संस्थान में दाखिला लिया। अपना कोर्स पूरा करने के बाद, निर्भया वर्ष 2012 में दिल्ली लौट आई और गुड़गांव के एक फिजियोथेरेपी अस्पताल में इंटर्नशिप करने लगी।

निर्भया का संक्षिप्त जीवनी – Nirbhaya Short Biography

नामनिर्भया
वास्तविक नामज्योति सिंह
जन्म1989
जन्म स्थलबलिया, उत्तर प्रदेश, भारत
राष्ट्रीयताभारतीय
धर्महिंदू
राशिमकर (Capricorn)
पिताजी (Father)बद्रीनाथ सिंह
माताजी (Mother)आशा देवी
बहन ( Sister ) नहीं हैं
भाई ( Brother )2
विवाहअविवाहित
प्रेमि ( Boyfriend )अवनींद्र प्रताप पांडे (सॉफ्टवेयर इंजीनियर)
निवास स्थानदिल्ली, भारत
स्कूलदिल्ली पब्लिक स्कूल
कॉलेजदेहरादून के एक फिजियोथेरेपी संस्थान
शिक्षा योग्यताफिजियोथेरेपी (स्नातक)
पेशाफिजियोथेरेपी
मृत्यु तिथि29 दिसंबर 2012 (सुबह 4:45 बजे)
आयु में मृत्यु23 वर्ष
मौत का कारणकई अंग खराब होने के कारण (क्रूर बलात्कार के कारण)
मौत की जगहमाउंट एलिजाबेथ अस्पताल, सिंगापुर

Nirbhaya Wiki, Age, Family,Boyfriend, Biography, Nirbhaya & More By Biography In Hindi, Nirbhaya education, Nirbhaya wikipedia, bio

चलती बस में इंसानियत हुई थी शर्मसार

निर्भया 16 दिसंबर 2012 की रात अपने दोस्त अवनींद्र के साथ दक्षिण दिल्ली के साकेत के एक सिनेमाघर में फिल्म “लाइफ ऑफ पाई” देखने के बाद घर लौट रही थी। उस समय रात के लगभग 9:30 बज रहे थे और वे एक रिक्शे या कैब की तलाश में थे। तभी उन्होंने एक सफेद रंग की ऑफ ड्यूटी प्राइवेट बस देखी। दोनों ने बस में प्रवेश किया और देखा कि बस के भीतर केवल 6 पुरुष सदस्य हैं, जिसमें बस का चालक भी शामिल है। तभी उन लोगो ने बस के दरवाजे कसकर बंद कर दिये। और चालक बस को दूसरे मार्ग पर ले गया। जब अवनींद्र ने ड्राइवर से पूछा कि आप कहाँ जा रहे हैं, तो बस में मौजूद पुरुष सदस्यों में से एक ने इन दोनो को चिढ़ा दिया और उनसे पूछा कि आप देर रात तक यात्रा क्यों कर रहे हैं?  यही बातचीत अवनींद्र और बस मे मौजुद आरोपियो के बीच लड़ाई हो जाती है। आरोपियो ने निर्भया के दोस्त को लोहे की रॉड से पीटा और उसे बेहोश कर दिया।

फ़िर आरोपियो ने निर्भया को बस की पिछली सीट पर घसीटा और एक-एक कर उसके साथ बेरहमी से बलात्कार किया। जैसे ही उसने वापस लड़ने की कोशिश की उनमें से एक ने जंग लगी लोहे की रॉड निर्भया के प्राइवेट पार्ट में डाल दिया। इस हैवानियत की वजह से निर्भया की आंतें शरीर से बाहर निकल आईं। खून से लथपथ लड़की जिंदगी और मौत से जूझ रही थी। लगभग एक घंटे के बाद, उन्होंने निर्भया और उसके दोस्त को महिपालपुर के नजदीक वसंत विहार इलाके में चलती बस से फेंक दिया। एक राहगीर ने उन्हें सड़क पर आधा मृत पाया और दिल्ली पुलिस को सूचित किया। उन्हें दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया।

निर्भया कि मौत

सफदरजंग अस्पताल में उसके प्रारंभिक उपचार के बाद, उसे सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में ले जाया गया, जहां उसने 29 दिसंबर 2012 को अपनी चोटों के कारण दम तोड़ दिया। उसकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला कि उसकी आंतों, जननांगों और पेट में हमले के कारण गंभीर चोटें थीं।

आरोपियों कि गिरफ्तारी

मामला तब तक मीडिया की सुर्खियों में आ गया। लड़की के साथ हुई दरिंदगी को जानकर हर कोई गुस्से में था। आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर आवाज उठने लगी।

बाद में जो हुआ उसने देश को हिला दिया, इस घटना के बाद एक व्यापक विरोध छिड़ गया। नई दिल्ली में इंडिया गेट और रायसीना हिल पर हजारों प्रदर्शनकारी एकत्रित हुए।

protest-at-india-gate

29 दिसंबर 2012 को अमेरिकी दूतावास द्वारा एक बयान जारी किया गया, जिसमें निर्भया के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की गई। संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान-की-मून ने कहा-

महिलाओं के खिलाफ हिंसा को कभी स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए, कभी भी माफ नहीं किया जाना चाहिए। प्रत्येक लड़की और महिला को सम्मान, मूल्यवान और संरक्षित होने का अधिकार है।

इस मामले की जांच के लिए आईपीएस अधिकारी Chaya Sharma के नेतृत्व में दिल्ली पुलिस की एक टीम को नियुक्त किया गया था।

टीम कि तलाशी अभियान के तहत घटना के 24 घंटे के भीतर सभी 6 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफल रही। आरोपियों की पहचान राम सिंह (बस चालक), मुकेश सिंह (राम सिंह के भाई), विनय शर्मा (सहायक जिम प्रशिक्षक), पवन गुप्ता(फल विक्रेता)), अक्षय और एक उत्तर प्रदेश के बदायूं से 17 वर्षीय किशोर के रूप में हुई।

nirbhaya-rape-bus
इसी बस मे हुआ था निर्भय का बलात्कार

आरोपियों के परीक्षण के दौरान, राम सिंह ने न्यायिक हिरासत में आत्महत्या कर ली जबकि किशोर को सुधार गृह भेज दिया गया।

13 मार्च 2014 को दोषी ठहराए गए 4 लोगों को दिल्ली उच्च न्यायालय ने मौत की सजा सुनाई थी और सुप्रीम कोर्ट ने सजा को बरकरार रखा था।

भारतीय कानून मीडिया को बलात्कार पीड़िता का नाम प्रकाशित करने की अनुमति नहीं देता है। निर्भया उन्हें प्रेस द्वारा दिया गया नाम था, जिसका मतलब निडर होता है। लेकिन 2015 में, निर्भया की तीसरी पुण्यतिथि पर, उसकी माँ ने नई दिल्ली के जंतर मंतर पर जनता के सामने उसका असली नाम (ज्योति सिंह) जनता में प्रकट किया।

सुप्रीम कोर्ट ने भी सुनाई चारों आरोपियों को मौत की सजा

7 जनवरी 2020 को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 22 जनवरी 2020 को सुबह 7 बजे चारों अभियुक्तों (पवन गुप्ता, मुकेश सिंह, विनय शर्मा, और अक्षय सिंह) को फांसी देने के लिए डेथ वारंट जारी किया। उनमें से एक की माँ ने निर्भया की माँ से संपर्क किया और अपने बेटे के जीवन की भीख माँगी। इस पर निर्भया की माँ ने जवाब दिया,

मेरी एक बेटी भी थी। उसके साथ क्या हुआ, मैं कैसे भूल सकता हूं? मैं सात साल से न्याय का इंतजार कर रहा हूं … “

nirbhaya-rape-accused
निर्भय बलात्कार के अभियुक्त

यह भी पढ़ें :- प्रियंका रेड्डी हत्या के बारे में यहा पढ़े

Nirbhaya Boyfriend, Husband – निर्भया प्रेमि, पति

वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर अवनींद्र प्रताप पांडे के साथ रिश्ते में थी।

nirbhaya-boyfriend
अवनींद्र प्रताप पांडे

Nirbhay Body Measurment

लम्बाई (लगभग) सेंटीमीटर में – 158 cm
मीटर में – 1.58
इंच में – 5’2″
वजन (लगभग)किलोग्राम में – 44 किग्रा लगभग
पाउंड में – 97 lbs
शारीरिक माप (लगभग)
आँखों का रंगकाला
बालों का रंगकाला

Nirbhay Real Photo – निर्भया का असली फोटो

nirbhaya-real-photo
निर्भया (ज्योति सिंह) का असली फोटो

यह भी पढ़ें :- प्रियंका रेड्डी हत्या के बारे में यहा पढ़े

4 COMMENTS

  1. Very cruel, justice may be got completed tomorrow at 5.30 am when all accused maybe hungged. An other juvenile accused may also be hungged.

  2. Nirbhaya ki maa ne sahi kaha balki vo aasha Devi ki nahi pure desh ki beti thi pure bhartiy samaj ki beti behan thi aaj me bahut khoosh Hun ki hamare desh ke maa behano ko maan yor samman Mila iss se hamari maa bahn safe hongi aaj ek baar fir ye sabit ho gaya ki India me v kanoon vyavastha mojood hai Cort ne Jo v fesla liya bilkul sahi liya yor 4 dosiyo ko Jo saja mili vo v sahi Mila 20 March 2020 ki subah ki Jo pehli suriy kirne hongi vo hamre desh ki beti yani nirbhaya ka sardhanjli hogi iss desh ki kanoon vyavastha ko me salam karta Hun thanks justice

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Alert :- Content is DMCA Protected !